स्वास्थ्य सेवाएं हुई 10 फीसदी महंगी, मरीजों में नाराजगी

कमल नेगी, पोलखोल न्यूज़| 1/3/2017 1:49:13 AM
img

उत्तराखंड के सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज कराना मंहगा हो गया है| पूरे राज्य में सरकारी अस्पातलों में इलाज के दामों में 10 फीसदी की बढोतरी कर दी गई है| अब रजिस्ट्रेशन की फीस 17 रुपये से बढ़कर 19 रुपये हो गई है| इसी तरह से ओटी चार्ज के साथ बेड की फीस में भी वृद्धि कर दी गई है| वहीं संयुक्त निदेशक डॉ. एलसी पुनेठा का कहना है कि हर साल 1 जनवरी से 10 फीसदी स्वास्थ्य सेवाएं महंगी हो जाती हैं| जबकि मरीजों ने इस वृद्धि पर नाराजगी जताई है. डॉ. एलसी पुनेठा, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कई साल पहले सरकार ने एक जीओ जारी किया था, जिसमें इस बात का प्रावधान किया गया है कि हर साल स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए 10 फीसदी की बढ़ोतरी की जाती है| प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं हर साल 10 फीसदी मंहगी हो रही है| ओटी के चार्ज में भी बढ़तरी होने की वजह से आम मरीजों को भारी दिक्कतों का समाना करना पड़ सकता है| वही मरीजों का कहना है कि सस्ते इलाज की उम्मीद में मरीज सरकारी अस्पतालों का रुख करते हैं| मगर जिस तरह से सरकार हर साल इलाज के दामों में बढ़ोतरी कर रही है, इससे मरीजों को भी दिक्कतों का समाना करना पड़ सकता है| उनका कहना है कि हर साल सरकार रजिस्ट्रेशन के शुल्क को बढ़ा रही है| जिस पर तिमारदारों ने नाराजगी जताई है|

Advertisement

img
img