जेल का ताला तोड़कर फरार हुए दो किशोर

भास्कर जोशी, पोलखोल न्यूज़ 1/3/2017 11:02:14 PM
img

देहरादून में नेहरू कॉलोनी स्थित बाल संप्रेक्षण का ताला तोड़कर दो किशोर मध्य रात फरार हो गए। दोनों किशोरों को बीते 12 दिसंबर को सहसपुर के धामावाला इलाके से चरस तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। फरार किशोरों में एक गोरखपुर व एक बिहार के सीतामढ़ी जिले का रहने वाला है। दोनों की तलाश के लिए पुलिस की चार टीमें गठित की गई हैं, साथ ही गोरखपुर व बिहार पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है। उधर, निदेशक समाज कल्याण ने संप्रेक्षण गृह के प्रभारी अधीक्षक को हटाते हुए दोनों केयर टेकर को निलंबित कर दिया है। जबकि एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने किशोरों के फरारी सूचना प्रसारित करने में लापरवाही बरतने पर बाईपास चौकी के मुंशी को निलंबित कर दिया है। बाल संप्रेक्षण गृह के चौकीदार दिनेश लाल व प्रेमी मंगल को वहां निरुद्ध किशोरों ने जानकारी दी कि किचन की ओर खुलने वाले दरवाजे की कुंडी टूटी हुई है। चौकीदारों ने किशोरों की गिनती की तो नौ की जगह केवल सात किशोर ही कमरे में पाए गए। इसके बाद संप्रेक्षण गृह में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में नेहरू कॉलोनी थाने की बाईपास चौकी पुलिस को सूचना दी गई। एसओ नेहरू कॉलोनी विनोद गुसाईं ने बताया कि संप्रेक्षण गृह की जांच में यह बात प्रकाश में आई है कि दोनों किशोरों ने रात बारह बजे के बाद किचन में रखे बाट से दरवाजे की कुंडी तोड़ दी और फरार हो गए। इसमें से एक गोरखपुर जिले का रहने वाला है, जबकि दूसरा बिहार के सीतामढ़ी जिले का रहने वाला है। दोनों को 12 दिसंबर को एसटीएफ ने 15 किलोग्राम चरस के साथ धामावाला से गिरफ्तार किया था। तभी से दोनों संप्रेक्षण में रखे गए थे। वहीं एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने बताया कि फरार विधि विवादित किशोरों की तलाश के चार टीमें गठित की गई हैं। एक टीम सहारनपुर रवाना कर दी गई है, जबकि अन्य टीमें शहर के अलग-अलग हिस्सों में किशोरों की तलाश कर रही हैं। इसके अलावा गोरखपुर व बिहार के सीमामढ़ी जिले की पुलिस को दोनों किशोरों के हुलिए से अवगत करा दिया गया है। गोरखपुर की ओर जाने वाली ट्रेनों पर भी नजर रखी जा रही है। उधर निदेशक समाज कल्याण बीएस धानिक ने प्रभारी अधीक्षक रंजीत सिंह गुसाईं को हटाते हुए अल्मोड़ा की ज्योति पटवाल को संप्रेक्षण गृह के अधीक्षक का प्रभार सौंप दिया। जबकि केयर टेकर दिनेश लाल व प्रेमी मंगल को निलंबित कर दिया गया है। संप्रेक्षण गृह दोनों किशोर रात 12 से दो बजे के बीच फरार हुए। साथ के किशोरों ने चौकीदारों को तीन बजे इसकी सूचना भी दे दी थी, लेकिन अफसरों को इस वारदात की भनक सुबह आठ बजे के करीब हुई। एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने बताया कि चार बजे बाईपास चौकी के मुंशी अजय बमराड़ा को चौकीदारों ने सूचना दे दी थी, उसकी ओर से इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को नहीं दी गई।

Advertisement

img
img