गोल्डन बुक में पतंजलि को 22 विश्व रिकॉर्ड की मान्यता

कमल नेगी, पोलखोल न्यूज़| 1/6/2017 11:08:34 PM
img

दिव्य योग मंदिर ट्रस्ट तथा भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के 22वें स्थापना दिवस पर पतंजलि योगपीठ-2 स्थित श्रद्धालयम हॉल में यज्ञ और खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस मौके पर गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के अधिकारियों ने विविध क्षेत्रों में पतंजलि योगपीठ की ओर से बनाए गए 22 विश्व रेकार्ड को मान्यता दी। इसमें योगगुरु बाबा रामदेव के सर्वाधिक लाइव प्रसारण, जड़ी-बूटी पौध वितरण, पतंजलि जड़ी बूटी संग्रहालय, आयुर्वेद सिद्धांत रहस्य पुस्तक का सर्वाधिक 17 भाषाओं में एक दिन में विमोचन आदि का विश्व रिकॉर्ड शामिल हैं। योगगुरु बाबा स्वामी रामदेव ने दिव्य योग मंदिर ट्रस्ट की शून्य से शिखर पर पहुंचने की यात्रा पर कहा कि सेवा के इस मिशन में अनेक कठिनाई आई। इसके बावजूद पतंजलि योगपीठ परिवार ने एकजुटता से उन परेशानी के बीच से ही उन्नति की नई-नई राहें ढूंढ निकालकर राष्ट्र निर्माण के अभियान को शिखर तक पहुंचाया। उन्होंने कहा कि सेवा तथा संघर्ष के इस महायज्ञ में करोड़ों देशवासियों का सात्विक संकल्प, उत्साह, स्नेह सदैव हमें प्राप्त हुआ है। स्वामी रामदेव ने कहा आयुर्वेद, शिक्षा, स्वदेशी संकल्प से लेकर लाखों लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार से जोड़ा गया है। योग गुरु ने कहा स्वदेशी एक सार्वभौमिक दर्शन है। आचार्य बालकृष्ण ने कहा पतंजलि राष्ट्र निर्माण को आगे बढ़ाने का अनुष्ठान है। यह निरंतर चल रहा है। कहा देश के लगभग 650 जिलों में लाखों निश्शुल्क योग कक्षाएं चल रही हैं, जिससे लाखों लोगों में शुचिता, सात्विकता, स्वदेशी, राष्ट्र उत्थान की अलख जगी है। उन्होंने कहा कि पतंजलि आयुर्वेद कालेज, पतंजलि हास्पिटल सहित देशभर में 5000 से अधिक पतंजलि चिकित्सालय व पतंजलि आरोग्य केंद्र, पतंजलि स्वदेशी केंद्र संचालित किया जा रहा है। भारत स्वाभिमान ट्रस्ट की इकाइयों के माध्यम से नशाबंदी, भ्रष्टाचार के खात्मे, पर्यावरण रक्षा का प्रसार किया जा रहा है।

Advertisement

img
img