आजम को मुख्यमंत्री चेहरा बना सकते हैं मुलायम सिंह

कमल नेगी, पोलखोल न्यूज़ 1/8/2017 11:01:28 PM
img

सुलह और समझौते की कई राउंड मीटिंग्स के बेनतीजा रहने के बाद अब यह साफ़ हो चुका है कि अखिलेश और मुलायम गुट अलग-अलग ही चुनाव मैदान में होंगे| ऐसे में मुलायम एक बड़ा मुस्लिम कार्ड खलते हुए आजम खान को मुख्यमंत्री का चेहरा बना सकते हैं| सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक मुलायम ने शिवपाल यादव और अमर सिंह से इस बारे में बात की है| बताया जा रहा है कि अमर और शिवपाल दोनों ने ही इस पर अपनी सहमती दे दी है| सूत्रों के मुताबिक इस सिलसिले में मुलायम और आजम के बीच मुलाकात भी हो सकती है| बता दें आजम खान ने मुलायम और अखिलेश के बीच सुलह कराने के लिए मध्यस्थ भी बने लेकिन इसके बावजूद कोई नतीजा नहीं निकला| फिलहाल अब सबकी निगाहें चुनाव आयोग के फैसले पर है| चुनाव के फैसले के बाद ही इस पर औपचारिक ऐलान हो सकता है| बता दें आजम खान समाजवादी पार्टी में एक बड़ा मुस्लिम चेहरा हैं| यही वजह है कि मुलायम खेमा उन्हें अपना मुख्यमंत्री चेहरा बनाकर 19 फ़ीसदी मुस्लिम वोट को अपने पाले में करने की फ़िराक में है| इतना ही नहीं पार्टी से जुड़े कई अल्पसंख्यक संगठन भी मुस्लिम मुख्यमंत्री चेहरा उतारने की मांग कर चुके हैं| ऐसा होने पर निश्चित रूप से मुस्लिम वोट में विखराव होगा और इसका नुकसान अखिलेश को उठाना पड़ सकता है| चुनाव चिन्ह साइकिल को लेकर आज मुलायम सिंह यदव दोपहर पौने एक बजे के करीब चुनाव आयोग से मुलाक़ात करेंगे| बताया जा रहा है कि दोनों दलों के किसी समझौते पर नहीं पहुंचने की सूरत में समाजवादी पार्ट्री के सिंबल को फ्रीज कर दोनों को ही अलग-अलग चुनाव चिन्ह दिया जा सकता है| बता दें कि अखिलेश खेमे की तरफ से रामगोपाल यादव पहले भी साइकिल पर अपना दावा ठोंक चुके हैं| उन्होंने पार्टी विधायकों, मंत्रियों और सांसदों का समर्थन पत्र भी चुनाव आयोग को दिया है| ऐसे में पिछले कई महीनों से चल रही इस सपाई महाभारत का पटाक्षेप आज चुनाव आयोग के फैसले से हो सकता है|

Advertisement

img
img