भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने जारी की लैपटॉप घोटाले के आदेशों की प्रतियां

कमल नेगी, पोलखोल न्यूज़| 1/10/2017 5:12:19 AM
img

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने कहा कि हरीश रावत सरकार द्वारा लैपटॉप खरीद में घोटाले करने का खुलासा करने के बाद अब प्रदेश के मुख्य सचिव श्री एस रामास्वामी और सचिव डॉ. भूपिन्दर कौर औलख के आदेशों की प्रतियां मीडिया को जारी कर दी हैं। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान का कहना है कि एक दिन पूर्व मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार सुरेंद्र अग्रवाल ने उनके आरोप को गलत बताया था। लेकिन आदेश की इन प्रतियों में मुख्य सचिव ने 28 दिसंबर को अपने आदेश में लिखा है कि जिस पोर्टल से खरीददारी की गई है वह केवल अभी ट्रायल पर है और 50 हजार से अधिक की खरीददारी नहीं की जा सकती और उसके लिये रिर्वसविडिगं की प्रक्रिया अपनाई जानी चाहिये। साथ ही यह पोर्टल अभी ईप्रोक्योरमैन्ट नियमावली से भी नहीं जोड़ा गया। इतना ही नहीं मुख्य सचिव ने यह भी माना कि जो लैपटॉप बाजार में रुपये 27,490 में मिल रहा है उसे रुपये 34,850 में खरीदा गया। जिससे करोड़ों का नुकसान शासन को होगा। इसी प्रकार की शिकायत पहले ही सचिव डॉ. भूपिन्दर कौर औलख द्वारा आईटी सचिव को 26 दिसंबर को प्रेषित की गयी थी। रोचक बात यह है कि जब यह गड़बड़ी मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाई गई तो उन्होंने दोषियों के विरुद्र कार्यवाही करने के बजाय यह शर्मनाक बयान दिया कि आईटी सचिव बाहरी कॉडर के हैं और उत्तराखंड कॉडर के अधिकारी उन्हें काम नहीं करने दे रहे है। यह सीधा-सीधा घपला करने वाले अधिकारियों को संरक्षण तथा घपले पर सवाल खड़े करने वाले अधिकारियों को प्रताड़ित करना है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री के बयान से दो निष्कर्ष निकलते हैं यदि मुख्य सचिव एवं सचिव किसी अन्य सचिव को काम करने से रोकते हैं और यह तथ्य मुख्यमंत्री की जानकारी में है। लेकिन मुख्यमंत्री कोई कदम नहीं उठाते तो फिर यह मुख्यमंत्री की असफलता है या फिर निष्कर्ष निकलता है कि मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव एवं अन्य अधिकारियों पर इस घोटाले पर पर्दा डालने व दबाब डालने के उद्देश्य से ऐसा बयान दे रहे हैं जो बहुत शर्मनाक है।

Advertisement

img
img