मंत्री और महिला नेता के यहां मिला 162 करोड़ का काला धन

वीरेंदर कुमार पोलखोल न्यूज़| 1/23/2017 11:43:09 PM
img

कांग्रेस शासित कर्नाटक के लघु उद्योग मंत्री रमेश जरकीहोली और प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मी हेब्बलकर के खिलाफ आयकर विभाग का शिकंजा कस गया है। पिछले हफ्ते मारे गए छापे में आयकर विभाग ने इन दोनों से जुड़ी कंपनियों में 162 करोड़ रुपये के काले धन का पर्दाफाश किया है। इसके साथ ही आयकर विभाग ने 41 लाख रुपये की नकदी और 12 किलोग्राम सोना भी जब्त किया है। दोनों नेताओं पर चीनी से जुड़ी कोऑपरेटिव सोसाइटियों के मार्फत बड़े पैमाने पर काले धन की हेराफेरी का आरोप है। आयकर विभाग के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार रमेश जरकीहोली सौभाग्य लक्ष्मी शुगर लिमिटेड नामक कंपनी के प्रमुख प्रमोटर और निदेशक हैं। उनके भाई की भी इसमें हिस्सेदारी है। आयकर छापे में सौभाग्य लक्ष्मी शुगर में 115 करोड़ रुपये काला धन उजागर हुआ है। कंपनी में कई बेनामी निवेशकों की मार्फत करोड़ों रुपये निवेश किए जाने के भी सुबूत मिले हैं। छापे के दौरान कंपनी के ठिकानों से 21 लाख रुपये नकद 12 किलोग्राम सोना भी बरामद किया गया है। आयकर विभाग के अनुसार रमेश जरकीहोली के परिवार के सदस्यों और अन्य करीबियों के खातों में करोड़ों रुपये जमा मिले हैं, जिनका वे संतोषजनक जवाब नहीं दे पा रहे हैं। माना जा रहा है कि बैंकों में जमा यह धन भी रमेश जरकीहोली के काले धन का हिस्सा है। रमेश जरकीहोली के दो अन्य भाई भी कर्नाटक में विधायक हैं। रमेश जरकीहोली की तरह ही कर्नाटक प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष लक्ष्मी हेब्बलकर के भाई चन्नाराज बी हट्टीहोली के खाते में लगभग 11 करोड़ रुपये और मां गिरिजा हट्टीहोली के खाते में 25.5 करोड़ रुपये जमा किए जाने के सबूत मिले हैं। इसके साथ ही हाईटेक इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन नाम की कंपनी के खाते में भी 10.5 करोड़ रुपए जमा कराए गए थे। तीनों में कोई भी इन पैसों का स्त्रोत नहीं बता पा रहे हैं। लक्ष्मी हेब्बलकर से जुड़े ठिकानों पर मारे गए छापे में 20 लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं। आयकर विभाग का मानना है कि ये सभी पैसे लक्ष्मी हेब्बलकर के हैं। एक वरिष्ठ ने कहा कि इस मामले में जल्द ही रमेश जरकीहोली और लक्ष्मी हेब्बलकर को पूछताछ के लिए समन भेजेगी।

Advertisement

img
img