खुलासा: ताश हारने पर कर दी थी साथी की हत्या

कमल नेगी, पोलखोल न्यूज़ 1/24/2017 12:30:04 AM
img

बीती शनिवार की सुबह डोईवाला कोतवाली की केशवपुरी बस्ती में डैशवाला के समीप नहर किनारे एक युवक का अर्धनग्न शव पुलिस ने बरामद किया था। मृतक के शरीर पर मिले चोट के निशान के चलते हत्या की आशंका जताई जा रही थी। लेकिन, शव की शिनाख्त न होने के कारण पुलिस के लिए यह मामला किसी पहेली से कम भी नहीं था। आखिर सोमवार को पुलिस को इस मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी। पुलिस ने केशवपुरी बस्ती डैशवाला निवासी राजू पंडित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक देहात श्वेता चौबे ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक की पहचान ओमप्रकाश (35 वर्ष) पुत्र उल्फत राम निवासी ग्राम उदावत, तहसील- मिल्क, जिला रामपुर उत्तरप्रदेश के रूप में की गई है। उन्होंने बताया कि ओमप्रकाश हलवाई के साथ दिहाड़ी-मजदूरी का काम करता था और उसकी केशवपुरी बस्ती निवासी राजू पंडित के साथ जान-पहचान थी। राजू पंडित भी दिहाड़ी मजदूरी का काम करता है। शुक्रवार की रात ओमप्रकाश डोईवाला के केशवपुरी बस्ती में अपने साथी राजू पंडित के घर आया था। रात को दोनों ने शराब पी और फिर ताश खेलने लगे। ताश के खेल में जीतने पर ओमप्रकाश राजू पर हावी होने लगा और फिर दोनों के बीच विवाद बढ़ गया। लेकिन, आमने सामने की लड़ाई में खुद को कमजोर पाकर राजू पंडित ने अपने मन में ओमप्रकाश को सबक सिखाने की ठान ली। जब ओमप्रकाश सो गया तब राजू पंडित ने लकड़ी की बल्ली से ताबड़तोड़ वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। किसी को इसकी भनक न लगे, इसलिए राजू पंडित ने मौके का फायदा उठाकर रात में ही ओमप्रकाश के शव को घर के समीप ही नाले में फेंक दिया। उन्होंने बताया कि शव की शिनाख्त न होने के कारण पुलिस के लिए यह मामला एक चुनौती से कम नहीं था। मामले के खुलासे के लिए कोतवाली निरीक्षक राजेश शाह के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। बताया कि पुलिस ने घटना से जुड़े तमाम साक्ष्य व संदेह के आधार पर कड़ियों को जोड़कर इस हत्याकांड का खुलासा किया। राजू पंडित को मुखबिर की सूचना पर जौलीग्रांट के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शनिवार को केशवपुरी बस्ती के डैशवाला में मिले शव के मामले की गुत्थी सुलझाना पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। पुलिस शुरुआत से ही इसे हत्या का मामला मानकर चल रही थी। शिनाख्त न होने के कारण पुलिस के लिए घटना की कडिय़ां जोड़ना भी आसान नहीं था। कोतवाल राजेश शाह ने बताया कि मृतक के फोटो के साथ जब पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो पता चला कि उक्त व्यक्ति शुक्रवार को केशवपुरी निवासी राजू पंडित के साथ देखा गया था। जब पुलिस ने राजू पंडित की तलाश की तो पता चला कि राजू पंडित उसी दिन से गायब है। जिसके बाद राजू पंडित पर पुलिस का शक गहरा गया। पुलिस राजू पंडित के घर पहुंची वहां पुलिस को खून के छींटे व धब्बे मिले। जिसके बाद पुलिस ने जोर शोर से राजू पंडित की तलाश में जुट गई। शातिर राजू पंडित ने शव की शिनाख्त छुपाने के लिए हत्या के बाद ओमप्रकाश की पैंट भी छुपा दी थी। राजू को पता था कि केशवपुरी व आसपास क्षेत्र में ओमप्रकाश को कोई भी नहीं जानता, लेकिन कपड़ों के कारण कोई उसे पहचान सकता था। लिहाजा राजू ने ओमप्रकाश की पैंट भी छुपा दी थी। राजू को यह भी यकीन था कि नाले में फेंकने के बाद शव कहीं दूर तक बह जाएगा और उस पर किसी का शक ही नहीं जाएगा राजू पंडित और ओमप्रकाश जब शराब पीने बैठे तो दोनों के बीच विवाद होने लगा था। ताश खेलते समय जब ओमप्रकाश जीतने लगा तो वह राजू पर हावी होने लगा और उसके साथ गाली-गलौज करने लगा। चूंकि राजू पंडित शारीरिक रूप से ओमप्रकाश से कमजोर था, लिहाजा राजू पंडित ने उस समय कोई प्रतिक्रिया नहीं की। पुलिस की पूछताछ में राजू पंडित ने बताया कि उसने उसी वक्त नींद की स्थित में ओमप्रकाश को सबक सिखाने की ठान ली थी।

Advertisement

img
img