गठबंधन करने के लिए फूट-फूट कर रोए थे मुलायम सिंह

विपुल अग्रवाल , पोलखोल न्यूज़ 2/2/2017 11:39:03 PM
img

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन में शामिल नहीं किए जाने की टीस अब भी राष्ट्रीय लोकदल के महासचिव जयंत चौधरी के दिल में है और वह अब खुलकर सामने आ रही है| मथुरा में जयंत चौधरी ने कहा कि वे पहले गठबंधन में शामिल होना चाहते थे, क्योंकि मुलायम सिंह यादव ने फोन पर इसके लिए रोते हुए गुहार लगाई थी| उस वक्त समाजवादी पार्टी में अखिलेश गुट और शिवपाल समर्थकों में सियासी झगड़ा अपनी चरम पर था| मुलायम भी इस झगड़ा को सुलझाने में नाकाम रहे थे| यह मामला चुनाव आयोग तक जा पहुंचा| वहां शिवपाल समर्थकों को बड़ा झटका लगा| चुनाव आयोग ने अखिलेश गुट के हवाले चुनाव चिह्न साइकिल और पार्टी कर दी| मथुरा विधानसभा क्षेत्र से रालोद उम्मीदवार अशोक अग्रवाल के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हुए कहा जयंत ने कहा, सपा-कांग्रेस गठबंधन ने हम पर लाठी मारी है, लेकिन रालोद कमजोर नहीं हुआ है| बल्कि हम ज्यादा मजबूत हुए हैं और लाठी तोड़ देंगे| चौधरी ने कहा, अगर आपका दोस्त रोकर मदद मांगे तो क्या आप इनकार कर देंगे| चौधरी साहब (अजित सिंह) ने कुछ भी गलत नहीं किया| उन्होंने दो मिनट में निर्णय किया (सपा के साथ गठबंधन का), क्योंकि मुलायम सिंह यादव फोन पर रो रहे थे और मदद की गुहार लगा रहे थे| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला करते हुए रालोद नेता ने कहा कि 600 मीटर मेट्रो चलाना और उसका पूरा प्रचार करना विकास नहीं कहलाता है| अपने परिवार के लोगों से लड़ना अखिलेश की आदत हो गई है|

Advertisement

img
img