कांग्रेस ने प्रदेश में बेरोजगारी भत्ता कार्ड बांटे, जारी हुआ नोटिस

विपुल अग्रवाल , पोलखोल न्यूज़, देहरादून 2/3/2017 10:05:59 PM
img

मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मनाही के बावजूद कांग्रेस ने प्रदेश में बेरोजगारी भत्ता कार्ड बांटे। इस मामले में जानकारी मिलते ही सीईओ कार्यालय हरकत में आया और कार्ड वितरण शुरू होने के कुछ घंटे बाद ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को नोटिस जारी कर दिया गया। इसके साथ ही कांग्रेस द्वारा सोशल मीडिया पर अपलोड बाहुबली फिल्म से प्रेरित सीएम हरीश रावत के वीडियो में भाजपा के शीर्ष नेताओं के विरुपण के मामले में भी कांग्रेस को नोटिस जारी किया गया। दोनों मामलों में 48 घंटे में जवाब देने को कहा गया है। मुख्यमंत्री हरीश रावत के व्हाट्सएप व वॉयसमेल नंबरों के परीक्षण और कार्रवाई के निर्देश भी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए गए हैं| कांग्रेस की विजय बहुगुणा सरकार ने राज्य के बेरोजगारों के लिए भत्ते की शुरुआत की थी, जिसे हरीश रावत के मुख्यमंत्री बनने के बाद बंद कर दिया गया था। अब कांग्रेस बेरोजगारी भत्ते के नाम पर ही राज्य के 57 फीसद युवा मतदाताओं को अपने साथ खड़ा करने की जुगत में हैं। कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय में कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने बेरोजगारी भत्ता स्मार्ट कार्ड लांच किया। इसके साथ ही हल्द्वानी में कैबिनेट मंत्री डॉ. इंदिरा हृदयेश ने इसकी लांचिंग की। इसके बाद प्रदेशभर में कुछ देर में कांग्रेस की ओर से हजारों कार्ड बांट दिए गए। इस मामले में भाजपा की ओर से मुख्य निर्वाचन अधिकारी को शिकायत की गई। तत्काल हरकत में आए मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की ओर से इस मामले में नोटिस जारी किया गया। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी षणमुगम ने कहा कि इस मामले में 22 जनवरी को कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुरेद्र रांगड़ की ओर से अनुमति मांगी गई थी। इसके जवाब में 23 जनवरी को अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने मीडिया प्रमाणीकरण एवं निगरानी कमेटी के माध्यम से पत्र द्वारा अनुमति नहीं दिए जाने की जानकारी कांग्रेस को दे दी थी। इसके बावजूद कांग्रेस द्वारा प्रदेशभर में बेरोजगारी भत्ता कार्ड बांटे जाने को उन्होंने गंभीरता से लिया है।कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को जारी नोटिस में अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी षणमुगम ने कहा कि कमेटी के निर्णय के विरुद्ध न तो कोई अपील की गई और न ही इस मामले में दोबारा अनुमति प्रदान की गई। इस मामले में उन्हें 48 घंटे के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा गया है। अगर तय समय पर जवाब नहीं दिया गया तो आचार संहिता के उल्लंघन में अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। कांग्रेस पार्टी के एक प्रचार वीडियो वोट अपील और भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व की तस्वीरों के गलत चित्रण की भाजपा की शिकायत पर भी मुख्य निर्वाचन अधिकारी की ओर से नोटिस जारी किया गया। इस वीडियो पर कांग्रेस से 48 घंटे में जवाब मांगा गया है। साथ ही हरीश रावत के हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर से प्रत्याशी होने के कारण संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारियों को भी नियमानुसार परीक्षण और कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा भाजपा की शिकायत पर मुख्यमंत्री रावत के प्रचार में उपयोग किए जा रहे व्हाट्सअप नंबर और वॉयस मेल नंबर का परीक्षण कर कार्रवाई के निर्देश भी जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने खेल विभाग द्वारा खेल पुरस्कारों से संबंधित विज्ञप्ति प्रकाशित किए जाने पर सचिव खेल से रिपोर्ट मांगी गई है। उनसे पूछा गया है कि क्या यह आदर्श आचार संहिता के प्रावधान के तहत किया गया है या नहीं।

Advertisement

img
img