सरकार में बैठे लोग आम जनता से जुड़े रहें: भागवत

विपुल अग्रवाल , पोलखोल न्यूज़ 2/10/2017 10:18:11 PM
img

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने सरकार में बैठे लोगों को आम जनता से जुड़े रहने का संदेश दिया है। राजधानी में लाल परेड मैदान पर आयोजित श्रम साधक संगम में उन्होंने कहा कि राजा की सवारी के सामने बच्चा, महिला या परिश्रम करने वाला आ जाए तो राजा रास्ता छोड़ते हैं। सामान्य व्यक्ति राजा के लिए रास्ता नहीं छोड़ता। यही देश की परंपरा है। हम ये भूल गए, इसलिए स्थिति खराब हुई है। भागवत ने कहा कि सेवा में अपनेपन का अहसास होता है, इसमें अहंकार नहीं आना चाहिए। भागवत ने श्रमिकों से कहा कि श्रम को हल्का मत मानो। आप जो कर रहे हैं, उसकी समाज को जरूरत है। आपका काम छूटा तो समाज की हालत बिगड़ेगी। श्रम की साधना से ही देश बड़ा होता है। संत रविदास का संदेश ही समरसता का संदेश है।कार्यक्रम में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सीईओ आशीष चौहान ने कहा कि सेवा भारती संस्था घर से छोड़े गए बच्चों और मां-बाप को पालती है, लेकिन ये शर्म की स्थिति है। आज के दौर में युवा धन सबसे बड़ी समस्या भी है और सबसे बड़ी शक्ति भी है।भागवत ने कहानी सुनाते हुए कहा कि गांधी जी पूना में एक पहाड़ पर टहल रहे थे। उतरते हुए देख एक बच्ची अपने भाई को कंधे पर लेकर चढ़ रही थी। गांधी जी ने कहा इसे उतार दो तो बच्ची ने कहा वह पैदल नहीं चल रहा है। इस पर गांधी जी ने कहा बोझ क्यों ढोती हो, तो बच्ची ने जवाब दिया कि कैसी बात कर रहे हो, अपनों का बोझ होता है क्या| भागवत ने बताया कि कोई काम छोटा नहीं होता। अमेरिका के राष्ट्रपति रहे इब्राहिम लिंकन अपने जूते पॉलिश कर रहे थे, तो किसी मिलने वाले ने पूछा आप जूते क्यों पॉलिश कर रहे हैं| लिंकन ने जवाब दिया कि जूते पहनने का आनंद ले सकते हैं तो पॉलिश क्यों नहीं कर सकते।

Advertisement

img
img