निस्तारित हुई फाइलों को मंगाकर उन्हें सार्वजनिक किया जाए: अजय भट्ट

विपुल अग्रवाल , पोलखोल न्यूज़ 2/18/2017 10:32:04 PM
img

भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री हरीश रावत व कांग्रेस सरकार पर आचार संहिता का उल्लंघन करने के साथ ही नियम विरुद्ध कार्य करने का आरोप लगाया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने कहा कि आचार संहिता लगने से ऐन पहले शराब माफिया को नियमों में ढील देकर चार बॉटलिंग प्लांट लगाने की अनुमति दी गई। खनन के तकरीबन 100 पट्टे और तकरीबन 60 बार लाइसेंसों को नियम विरुद्ध स्वीकृति दी गई। मुख्यमंत्री हरीश रावत इन्हीं फाइलों का निस्तारण करने सचिवालय गए थे। उन्होंने निर्वाचन आयोग से मांग की कि निस्तारित हुई फाइलों को मंगा कर उन्हें सार्वजनिक किया जाए ताकि सच सामने आ सके| भाजपा प्रदेश मुख्यालय में बातचीत में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने चुनाव से पहले गुपचुप तरीके से शराब व खनन माफियाओं को फायदा पहुंचाने के कदम उठाए। इसके लिए सरकार ने पहले पौड़ी, सतपुली, देवप्रयाग और भीमताल में शराब के बॉटलिंग प्लांट लगाने की अनुमति दी। देव प्रयाग में पहले मिनरल वॉटर प्लांट लगाने की बात कही गई लेकिन बाद में वहां शराब का प्लांट लगाने की अनुमति दे दी गई। इसी प्रकार खनन के पट्टे और शराब के बार लाइसेंस दिए गए। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव में सरकार ने सरकारी मशीनरी का भी जम कर दुरुपयोग किया। सेवानिवृत हो रहे परिवहन विभाग के सचिव सीएस नपलच्याल को सेवा विस्तार दिया गया। इसके बाद चुनाव में परिवहन विभाग ने टीम पीके के 100 से अधिक वाहनों के बिना रोक टोक प्रदेश मे इधर-उधर जाने के आदेश जारी कराए। चुनावों में पुलिस व निकाय के वाहनों से शराब व नगदी बांटने का काम किया गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कांग्रेस की ओर से सोशल मीडिया के दुरुपयोग और भाजपा नेताओं के सम्मान को चोट पहुंचाने वाले प्रचार पर भी आपत्ति जताई। उन्होंने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि भाजपा पर चुनाव में बहुत खर्च करने का आरोप लगाने वाले यह बताए कि पीके को एक हजार करोड़ रुपये कहां से दिए गए। यह सारी राशि काला धन है जो कांग्रेस सरकार ने शराब व खनन माफियाओं से लेकर दिए हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दावा किया कि भाजपा पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ रही है और सत्ता में आने के बाद भाजपा इन तमाम घोटालों की जांच कराएगी। मुख्यमंत्री के मुख्य प्रवक्ता सुरेंद्र कुमार ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता हजारों करोड़ रुपये चुनाव प्रचार में खर्च करने के बाद जनता से नकारे जाने की निराशा छिपा नहीं पा रहे हैं। सरकार के कामों पर वे लोग अंगुली उठा रहे हैं जो नख से शिख तक भ्रष्टाचार में डूबे रहे। जिनके मुख्यमंत्री को भ्रष्टाचार में लिप्त होने के कारण पद से हटना पड़ा हो। उन्होंने कहा कि जिनके ब्रांड अंबेसडर पर भ्रष्टाचार का तमगा लगा हो, ऐसे नेताओं को जनता सबक सिखाएगी।

Advertisement

img
img