ग्राम प्रधान ने महिला को मृतक बताकर करा दी विधवा पेंशन बंद

भाष्कर जोशी, पोलखोल न्यूज 2/24/2017 1:19:07 AM
img

जौनसार-बावर के चकराता तहसील अंतर्गत मलेथा पंचायत में जीवित महिला को मृत बताकर विधवा पेंशन रोकने का मामला सामने आया है। बीते पांच वर्षों से पेंशन के लिए दर-दर की ठोकर खाने के बाद महिला ने जिलाधिकारी से न्याय की गुहार लगाई। कागजों में मृत महिला ने डीएम को आधार कार्ड दिखाकर जीवित होने का प्रमाण भी दिया। साथ ही पेंशन बंद करने के लिए ग्राम प्रधान को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। डीएम रविनाथ रमन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम चकराता को तत्काल कार्रवाई के आदेश दिए हैं। चकराता तहसील अंतर्गत मलेथा पंचायत की भेभना निवासी विधवा पेंशनर महिला फीफो देवी पत्नी स्व. देबू ने जिलाधिकारी को सौंपे शिकायती पत्र में कहा कि कुछ समय पहले तक उन्हें सरकार से गुजारा भत्ते के लिए हर माह विधवा पेंशन मिलती थी, जिसे अचानक बंद कर दिया गया। महिला ने कहा कि वर्ष 2010 तक सरकार से उन्हें नियमित पेंशन का भुगतान किया गया, लेकिन फरवरी 2011 से उनकी पेंशन आनी बंद हो गई। काफी समय बीतने के बाद भी जब उन्हें पेंशन नहीं मिली तो उन्होंने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी व ब्लॉक अधिकारियों से संपर्क किया। लेकिन, कोई सुनवाई नहीं हुई। पेंशन के लिए पिछले पांच वर्षों में उन्होंने कई बार तहसील व ब्लॉक कार्यालय के चक्कर काटे, लेकिन हर बार निराशा हाथ लगी। बाद में उन्हें पता चला कि ग्राम प्रधान ने मृतक बताकर विधवा पेंशन बंद करा दी है। डीएम दरबार पहुंची महिला ने जिलाधिकारी से शिकायत की। इसे लेकर डीएम रविनाथ रमन ने एसडीएम चकराता प्रत्यूष सिंह को मामले में तुरंत कार्रवाई के आदेश जारी किए हैं।

Advertisement

img
img