संपत्ति के लालच में बड़े भाई ने किया छोटे भाई का कत्ल

योगेश शर्मा, पोलखोल न्यूज, हल्द्वानी। 3/23/2017 1:50:08 AM
img

संपत्ति के विवाद में विवाद में एक माह पहले बड़े भाई ने अपने सगे छोटे भाई की चाकू से गर्दन काटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को पांच फुट नीचे टैंक में मिट्टी और सीमेंट से दबा दिया। पानी के लिए बुधवार को दूसरा गड्ढा खोदना शुरू किया तब जाकर इसका पता चल सका। गड्ढा खोदने से गांव के लोगों को शक हुआ तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने टंकी के अंदर सड़ा शव बरामद कर बड़े भाई को गिरफ्तार कर लिया। सख्ती बरतने पर उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। ग्रामीणों का कहना है कि उसने अपने भाई का खून संपत्ति के लालच में किया। नारायणनगर कुसुमखेड़ा निवासी स्व. अनिल पांडे का बड़ा पुत्र कृष्णकांत पांडे उर्फ कन्नू बुधवार को अपने मकान के सामने पानी के टैंक के लिए नया गड्ढा खुदवा रहा था। लोगों को शक हुआ कि पुराना टैंक रहते हुए कन्नू नया टैंक क्यों बनवा रहा है। शक इसलिए भी हुआ कि वे जब भी कन्नू से पूछते थे कि उसका छोटा भाई सूर्यकांत पांडे उर्फ लाला ;27द्ध कहां गया तो वह कहता कि भाई एक माह पहले नौकरी के लिए दिल्ली चला गया है। शाम को ग्रामीणों ने अपना शक पुलिस के सामने जाहिर कर दिया। पुलिस ने जब पुरानी टैंकी का पानी निकालकर टंकी की जांच की तो अंदर सूर्यकांत का सड़ा हुआ शव दिखाई पड़ा। पुलिस ने बड़े भाई को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया। पुलिस ने जब सख्ती दिखायी दी तो कन्नू टूट गया। कन्नू ने पुलिस को बताया कि वह होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद दिल्ली में नौकरी करता था। छोटे भाई ने भी एमबीए करने के बाद दिल्ली में नौकरी की लेकिन फिर छोड़ दी। उसके पिता अनिल पांडे पंजाब नेशनल बैंक में अधिकारी थे। छह माह पहले पिता रिटायर हो गये। पिता शराब पीते थे। अगस्त 2016 में पिता की तबियत खराब होने पर वह छुट्टी लेकर घर आया। सितंबर 2016 में पिता की मौत हो गयी। घर पर दोनों भाई रहते थे। लेकिन छोटा भाई शराब पीकर झगड़ा करता था। 22 फरवरी की शाम शराब पीकर छोटा भाई घर लौटा और पित की तस्वीर जमीन पर पटकर तोड़ दी। उसने विरोध किया तो छोटे भाई ने गाली गलौच की। गुस्से में आकर उसने चाकू से छोटे भाई की गर्दन पर ताबड़तोड़ कई वार किए जिससे उसकी मौत हो गयी। रात में उसने शव को घर के सामने बने पानी के टैंक में ठिकाने लगाया। शव उतराने का डर था इसकी कारण उसने ऊपर से मिट्टी और सीमेंट के कट्टे से शव को दबा दिया। हत्या का राज छिपाने के लिए वह गांव और रिश्तेदारों से बहाना बनाता रहा। उसने अपने खून से सने कपड़े भी धो लिए थे। हालांकि ग्रामीणों का आरोप है कि पिता ने छोटे बेटे को संपत्ति में नाॅमिनी बना दिया था जिससे रूष्ट होकर बड़े ने उसकी हत्या कर दी।

Advertisement

img
img