प्रदेश में बिजली की नई दरें घोषित, दरों में 5.72 फीसद की बढ़ोत्तरी

विपुल अग्रवाल, पोलखोल न्यूज़, देहरादून 3/29/2017 9:41:27 PM
img

नए वित्तीय वर्ष के लिए विभिन्न श्रेणी में बिजली की दरों में 5.72 फीसद की बढ़ोत्तरी की गई है। प्रदेश में उपभोक्ताओं को महंगी बिजली खरीदनी पड़ेगी। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग (यूईआरसी) ने बिजली की नई दरें घोषित कर दी हैं। घरेलू श्रेणी की दरों में औसतन 33 पैसे प्रति यूनिट का इजाफा किया गया। इसके अलावा व्यावसायिक श्रेणी की औसत दर प्रति यूनिट 22 पैसे वृद्धि की गई है। यह वृद्धि दर पिछले साल के मुकाबले महज 0.73 फीसद ही अधिक है। नई दरों में प्रति माह लगने वाले स्थिर प्रभार (फिक्स चार्ज) में खपत के हिसाब से न्यूनतम तीन रुपये व अधिकतम 35 रुपये बढ़ाए गए हैं। बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं की बिजली की दर में कोई इजाफा नहीं किया गया है। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग (यूईआरसी) के अध्यक्ष सुभाष कुमार ने बिजली की नई दरों (टैरिफ) की घोषणा की। सुभाष ने बताया कि ऊर्जा निगम ने विभिन्न निवेश का हवाला देते हुए दरों में 13.48 फीसद बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव दिया था। प्रदेशभर में की गई जन सुनवाई व परीक्षण के बाद निगम के कई तर्कों को खारिज करते हुए नई दरों में 5.72 फीसद की बढ़ोत्तरी की गई है। यूईआरसी अध्यक्ष ने बताया कि प्रदेश में वर्ष 2003-04 से शुरू की गई बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी की व्यवस्था के बाद यह तीसरी सबसे कम वृद्धि है। पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश समेत अन्य प्रदेशों के मुकाबले भी उत्तराखंड में बिजली की दरें सबसे कम हैं। यह स्थिति तब है, जब राज्य में बिजली उत्पादन मांग से काफी कम है। बिजली व्यवस्था में सभी तरह के सुधार के लिए ऊर्जा निगम समेत उत्तराखंड जल विद्युत निगम व उत्तराखंड विद्युत पारेषण निगम को 3324 करोड़ रुपये निवेश की स्वीकृति दी गई है। बढ़ाई गई बिजली दर इस प्रकार हैं, 100 यूनिट तक--10 पैसे, 200 यूनिट तक--20 पैसे, 300 यूनिट तक--40 पैसे, 400 यूनिट तक--40 पैसे, 500 यूनिट तक--60 पैसे, 500 यूनिट से अधिक-60 पैसे। फिक्स चार्ज में बीपीएल समेत सभी घरेलू उपभोक्ताओं के लिए तीन से लेकर 35 रुपये तक बढ़े हैं। बीपीएल उपभोक्ताओं की बिजली दरों में कोई बढ़ोत्तरी नहीं हुई है।

Advertisement

img
img