विवाहिता से छेड़छाड़ करने वाले मनचलों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

विपुल अग्रवाल, पोलखोल न्यूज़, हरिद्वार 4/9/2017 5:18:10 AM
img

पुराना रानीपुर मोड़ स्थित एक फर्नीचर की दुकान में काम करने वाले दो कर्मचारी किसी काम से देवपुरा चौक की ओर जा रहे थे। ऋषिकुल मैदान के समीप पहुंचने पर दोनों ने देखा कि एक विवाहिता नल पर पानी भर रही है। आरोपियों ने बाइक रोक ली। आरोप है कि दोनों ने विवाहिता पर अश्लील टिप्पणी की और उसका हाथ पकड़ लिया। विवाहिता का हाथ पकड़ना व अश्लील टिप्पणी करना दो मनचलों को महंगा पड़ गया। विवाहिता व परिजनों ने मनचलों की जमकर पिटाई कर डाली। विवाहिता एवं उसकी मां मनचलों पर दुर्गा बनकर टूट पड़ी। दोनों को मायापुर पुलिस चौकी के सुपुर्द किया गया, जहां माफी मांगने व भविष्य में दुबारा से गलती नहीं करने की चेतावनी के बाद छोड़ा गया। विवाहिता ने शोर मचा दिया, जिस पर ऋषिकुल मैदान में ही सड़क किनारे झोपड़ी डालकर रहे उसके परिवार के लोग लाठी डंडे लेकर वहां पहुंच गये। इस दौरान वहां पहुंची विवाहिता की मां ने दोनों युवकों के थप्पड़ जड़ दिए, जबकि विवाहिता भी दोनों पर टूट पड़ी। मां-बेटी ने दौड़ा दौड़ाकर दोनों को पीटा। यह देखकर वहां से गुजर रहे लोग रुक गए। लोगों ने वाहन सड़क पर लगा दिए, जिससे ऋषिकुल मार्ग पर जाम लग गया। सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने घटना की जानकारी ली। साथ ही भीड़ की पकड़ से दोनों युवकों को छुड़ाया। दोनों को चौकी ले जाया गया, जहां पूछताछ में दोनों ने छेड़छाड़ की बात से इन्कार किया। इस बीच चौकी पहुंची विवाहिता की मां ने चौकी प्रभारी को बताया कि वह लोग महाराणा प्रताप के वंशज हैं। सड़क किनारे रहकर लोहे के औजार बनाकर बेचते हैं। बेटी की तीन महीने पहले ही शादी की है। कल बेटी घर आई थी। विवाहिता ने आरोप लगाया कि युवक ने हाथ पकड़कर उसे ले जाने की कोशिश की। इस पर चौकी प्रभारी ने युवकों को जमकर फटकार लगाई। इस दौरान कर्मचारियों के मालिक ने वहां पहुंचकर आरोपियों को फटकार लगाई। कर्मचारियों ने मां-बेटी के पैर पकड़कर माफी मांगी। साथ ही भविष्य में ऐसा नहीं करने की बात कही। चौकी प्रभारी राकेश भट्ट ने बताया कि महिलाओं ने दोनों को माफ कर दिया है। दोनों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है।

Advertisement

img
img