रफी खान, पोलखोल न्यूज, काशीपुर। कांग्रेस राज का सबसे बड़ा घोटाला अब अधिकारियों और सफेदपोशों के लिए गले की हड्डी बनता जा रहा है जो ना उगलते बन रहा है और ना निगलते। ऊधमसिंह नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग 74 लेंडयूज बदलने को लेकर हुए घोटाले की जडे़ लगातार गहरी होती जा रही हैं। जांच जैसे-जैस आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे घोटालों की परतें खुलती जा रही हैं। शुरूआती जांच में 118 करोड़ का दिखने वाला घोटाला अब 300 करोड़ का आंकडा छूता नजर आ रहा है। इसके आंकड़े के और ऊपर जाने की संभावनाएं भी व्यक्त की जा रही है। यहां बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 74 से जुड़े इस घोटाले को सबसे पहले प्रदेश के चर्चित अखबार देवभूमि पोलखोल ने वर्ष 2015 के 14 जुलाई के प्रकाशित अंक में मुआवजे के नाम पर केंद्र सरकार को अरबो का चूना नामक खबर शीर्षक से उजागर किया था तब से लेकर आज तक यह घोटाला अखबारों से लेकर सोशल मीडिया की सुर्खिया बना हुआ है। भूमि अधिगृहण घोटाले की परतें अब परत दर परत खुलती नजर आ रही हैं, उच्च स्तरीय जांच के साथ ही बीते सप्ताह प्रदेश के सीएम द्वारा मामले में सीबीआई जांच कराये जाने की बात कहने के उपरांत घोटाले में शामिल अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है इसका जीता जागता सुबूत है कि जहां एक तरफ फाईलों में लिपापोती

रफी खान, पोलखोल न्यूज, काशीपुर। कांग्रेस राज का सबसे बड़ा घोटाला अब अधिकारियों और सफेदपोशों के लिए गले की हड्डी बनता जा रहा है जो ना उगलते बन रहा है और ना निगलते। ऊधमसिंह नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग 74 लेंडयूज बदलने को लेकर हुए घोटाले की जडे़ लगातार गहरी होती जा रही हैं। जांच जैसे-जैस आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे घोटालों की परतें खुलती जा रही हैं। शुरूआती जांच में 118 करोड़ का दिखने वाला घोटाला अब 300 करोड़ का आंकडा छूता नजर आ रहा है। इसके आंकड़े के और ऊपर जाने की संभावनाएं भी व्यक्त की जा रही है। यहां बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 74 से जुड़े इस घोटाले को सबसे पहले प्रदेश के चर्चित अखबार देवभूमि पोलखोल ने वर्ष 2015 के 14 जुलाई के प्रकाशित अंक में मुआवजे के नाम पर केंद्र सरकार को अरबो का चूना नामक खबर शीर्षक से उजागर किया था तब से लेकर आज तक यह घोटाला अखबारों से लेकर सोशल मीडिया की सुर्खिया बना हुआ है। भूमि अधिगृहण घोटाले की परतें अब परत दर परत खुलती नजर आ रही हैं, उच्च स्तरीय जांच के साथ ही बीते सप्ताह प्रदेश के सीएम द्वारा मामले में सीबीआई जांच कराये जाने की बात कहने के उपरांत घोटाले में शामिल अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है इसका जीता जागता सुबूत है कि जहां एक तरफ फाईलों में लिपापोती 4/9/2017 11:12:49 PM
img

रफी खान, पोलखोल न्यूज, काशीपुर। कांग्रेस राज का सबसे बड़ा घोटाला अब अधिकारियों और सफेदपोशों के लिए गले की हड्डी बनता जा रहा है जो ना उगलते बन रहा है और ना निगलते। ऊधमसिंह नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग 74 लेंडयूज बदलने को लेकर हुए घोटाले की जडे़ लगातार गहरी होती जा रही हैं। जांच जैसे-जैस आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे घोटालों की परतें खुलती जा रही हैं। शुरूआती जांच में 118 करोड़ का दिखने वाला घोटाला अब 300 करोड़ का आंकडा छूता नजर आ रहा है। इसके आंकड़े के और ऊपर जाने की संभावनाएं भी व्यक्त की जा रही है। यहां बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 74 से जुड़े इस घोटाले को सबसे पहले प्रदेश के चर्चित अखबार देवभूमि पोलखोल ने वर्ष 2015 के 14 जुलाई के प्रकाशित अंक में मुआवजे के नाम पर केंद्र सरकार को अरबो का चूना नामक खबर शीर्षक से उजागर किया था तब से लेकर आज तक यह घोटाला अखबारों से लेकर सोशल मीडिया की सुर्खिया बना हुआ है। भूमि अधिगृहण घोटाले की परतें अब परत दर परत खुलती नजर आ रही हैं, उच्च स्तरीय जांच के साथ ही बीते सप्ताह प्रदेश के सीएम द्वारा मामले में सीबीआई जांच कराये जाने की बात कहने के उपरांत घोटाले में शामिल अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है इसका जीता जागता सुबूत है कि जहां एक तरफ फाईलों में लिपापोती

Advertisement

img
img