जून में लॉन्च होगा इंडियन रेलवे का हिंदरेल ऐप

विपुल अग्रवाल, पोलखोल न्यूज़, रामपुर 4/23/2017 11:31:03 PM
img

पूर्व नगर विकास मंत्री मुहम्मद आजम खां ने अपनी सुरक्षा कम किए जाने पर तीखी टिप्पणी की है। मीडिया से बातचीत में तंज कसा कि सुरक्षा किसी मकसद से कम की होगी। लेकिन इतिहास गवाह है कि जिनकी सुरक्षा कम हुई, उन्हें बाद में मार दिया गया। एक दिन पहले ही हमें बाहरी राज्यों से तीन धमकी भरे पत्र मिले हैं। यह भी इत्तेफाक है कि उसके बाद ही सुरक्षा कम होने की भी जानकारी मिली। सभी पत्र पुलिस अधीक्षक को जांच के लिए भेज दिए गए हैं। पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने बताया कि धमकी वाले तीनों पत्रों की जांच अपर पुलिस अधीक्षक तारिक मुहम्मद कर रहे हैं। अन्य क्षेत्राधिकारियों और थाना प्रभारियों को भी जानकारी करने के लिए कहा गया है। अब आधी हो गई सुरक्षा सपा सरकार में आजम खां को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली थी। तब उनके साथ 10 पुलिस कर्मी और दो पीएसओ (पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर) रहते थे। अब वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। इसमें पांच पुलिस कर्मी और एक पीएसओ रहेंगे। पुलिस की गार्द घर पर रहेगी, जबकि बाहर पीएसओ ही साथ चलेगा।

Advertisement

img
img