नौ मुन्ना भाई दे रहे थे दूसरों की जगह परीक्षा, गिरफ्तार

पोलखोल न्यूज़, देहरादून 5/27/2017 1:59:23 AM
img

विदेश में नौकरी के लिए आयोजित किए गए इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट सिस्टम में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। दून के एक होटल में हुई परीक्षा में 10 युवक मूल अभ्यर्थियों के बदले परीक्षा देते मिले। पुलिस ने इनमें से नौ को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक भागने में सफल रहा। परीक्षा गुरुग्राम (गुड़गांव) की एक प्लेसमेंट कंपनी करा रही थी। नेहरू कॉलोनी पुलिस के मुताबिक रिस्पना पुल स्थित एक होटल में इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट सिस्टम का आयोजन किया गया था। परीक्षा प्रबंधक मनोज सिंह पुत्र स्व. नरेश राम निवासी जहंग अपार्टमेंट प्लॉट नंबर-40, सेक्टर-13 दिल्ली के माध्यम से शिकायत मिली थी कि परीक्षा में कुछ मुन्ना भाई भी शामिल हैं। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल की तो 10 युवक मूल अभ्यर्थियों के स्थान पर परीक्षा देते मिले। इसके बाद परीक्षा प्रबंधक सहित सभी गिरफ्तार आरोपियों को नेहरू कॉलोनी थाने लाकर पूछताछ की गई। मुन्ना भाइयों के खिलाफ नेहरू कॉलोनी थाने में फर्जीवाड़ा और धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्हें कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। पकड़े गए सभी मुन्ना भाई अच्छे घर के और काफी पढ़े-लिखे हैं। आरोपियों की पहचान शुभंकर पुत्र सुनील उपाध्याय निवासी 73 साकेत निकट गोल मार्केट मेरठ (उप्र.), आदित्य सिंह पुत्र डॉ. नीरज सिंह निवासी 19 बी कैंपस शेयस नैनी इलाहाबाद (उप्र.), कैलाश भारती पुत्र स्व. नारायण निवासी ए 85 सीईएल कॉलोनी गाजियाबाद (उप्र.), फरीद अहमद पुत्र दिलशाद निवासी कैनाल रोड धरेन पुल कृष्णा हाउस देहरादून, गुरजीत सिंह पुत्र बलजिंदर निवासी टर्नर रोड लेन नंबर 12 देहरादून, मनप्रीत पुत्र परविंदर सिंह निवासी कैनाल रोड गणपति अपार्टमेंट देहरादून, सतनाम सिंह पुत्र सुखवंत सिंह निवासी पटेरी पोस्ट ऑफिस किच्छा ऊधमसिंह नगर, गुरु प्रताप सिंह पुत्र महल सिंह निवासी गोला बुकराम नाथ लखीमपुर खीरी (उप्र.), जसकरण पुत्र दर्शन सिंह और टेनी पुत्र सेशा सिंह निवासीगण प्रफुल्लनगर दिनेशपुर ऊधमसिंहनगर के रूप में हुई है। इनमें से टेनी फरार बताया जा रहा है। टेनी और जसकरन चचेरे भाई हैं। इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट सिस्टम (आइईएलटीएस) गैर अंग्रेजी भाषी देशों के लोगों के लिए अंग्रेजी भाषा दक्षता की अंतरराष्ट्रीय मानकीकृत परीक्षा है। यह दुनिया के प्रमुख अंग्रेजी भाषा परीक्षणों में से एक है। यह परीक्षा पास करने के बाद विदेशों में अंग्रेजी भाषा का कोई भी टेस्ट देने की आवश्यकता नहीं होती।

Advertisement

img
img