लालू के परिवार की मुश्किलें और बढ़ने के आसार

विपुल अग्रवाल, पोलखोल न्यूज़, नई दिल्ली 7/10/2017 10:46:15 PM
img

कालेधन के सफेद बनाकर हरियाणा के बिजवासन में खरीदा गया मीसा भारती और उसके पति शैलेष कुमार का फार्महाऊस भी जब्त होगा। इस फार्म हाऊस को खरीदने के लिए मीसा भारती ने जैन भाइयों (सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन) की मुखौटा कंपनियों का इस्तेमाल किया था। इस संबंध में पूछताछ के लिए ईडी के बुलावे पर शैलेष कुमार सोमवार को हाजिर नहीं हुए। ईडी ने मीसा को आज पूछताछ के लिए बुलाया है। ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने साफ किया कि मीसा भारती और शैलेष कुमार के खिलाफ मनी लांड्रिंग की जांच का राजद प्रमुख लालू यादव के सरकारी आवास के पते के इस्तेमाल के अलावा कोई सीधा संबंध नहीं है। जैन भाइयों के खिलाफ मनी लांड्रिंग की जांच के दौरान ईडी को पता चला कि मीसा भारती और शैलेष कुमार ने 1.20 करोड़ रुपये के कालेधन को सफेद बनाने लिए उसकी सेवाएं ली थी। जैन भाइयों ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने स्वीकार किया है कि 1.20 करोड़ रुपये की नकदी को सफेद बनाने के लिए उन्हें 90 लाख रुपये नकद एडवांस में दिये गए थे। ये पैसे राजेश अग्रवाल नाम के एक चार्टर्ड एकाउंटेंट के मार्फत भेजे गए थे। नकद मिलने के बाद जैन भाइयों ने अपनी चार मुखौटा कंपनियों से मार्फत मीसा भारती और शैलेष कुमार की कंपनी मिशेल पैकर्स एंड प्रिटंर्स के 1,20,000 शेयर 100 रुपये के प्रति शेयर के हिसाब से खरीद लिया। यानी शेयर खरीदने के लिए जैन भाइयों ने मीसा भारती और शैलेष कुमार को 1.20 करोड़ रुपये चेक से भुगतान किया। जबकि मीसा और शैलेष जैन भाइयों को यह पैसा नकद में दिया था। बाद में महज 10 रुपये प्रति शेयर के भाव से 12.20 लाख रुपये में सारे शेयर वापस खरीद लिया। इस तरह से उनका लगभग 1.8 करोड़ रुपये सफेद हो गया।आरोप है कि इसी पैसे से बाद में मीसा और शैलेष ने बिजवासन का फार्महाऊस खरीदा था। ईडी को मनी लांड्रिंग रोकथाम कानून के तहत ऐसी संपत्ति को जब्त करने का अधिकार है। इसके तहत ईडी पहले ही जैन भाइयों के मुखौटा कंपनियों का इस्तेमाल कर खरीदी गई 65.82 करोड़ रुपये की संपत्तियों को जब्त कर चुका है। ईडी के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस संबंध में काफी जांच पहले ही हो चुकी है। जैन भाइयों की मुखौटा कंपनियों और मीसा व शैलेष की कंपनी के बीच हुए लेन-देन का रिकार्ड मौजूद है। जैन भाई ईडी के समक्ष दिये बयान में इसे कबूल भी कर चुके हैं। ऐसे में ईडी के लिए सिर्फ मीसा भारती और शैलेष कुमार का बयान दर्ज करने की जरूरत है। शनिवार को छापे के बाद ईडी ने शैलेष कुमार को ही पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन वे तबीयत खराब होने की बात कह कर नहीं आए। मीसा को आज ईडी के सामने पेश होना है।

Advertisement

img
img