मैंने अभी कोई कॉन्ट्रैक्ट साइन नहीं किया: भरत अरुण

पोलखोल न्यूज़, नई दिल्ली 7/18/2017 3:51:11 AM
img

रवि शास्त्री के टीम इंडिया का कोच बनने के बाद से सपोर्ट स्टाफ को लेकर उनकी क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) से ठन गई है| रवि शास्त्री को कोच बनाने के बाद सीएसी ने बल्लेबाजी कोच के लिए रवि शास्त्री और गेंदबाजी कोच के लिए जहीर खान का नाम सामने रखा| सूत्रों की रिपोर्ट्स के मुताबिक, सौरव गांगुली के गेंदबाजी कोच के लिए जहीर खान का नाम सामने रखने पर रवि शास्त्री नाराज हो गए| खबर है कि शास्त्री भरत अरुण को टीम इंडिया का गेंदबाजी कोच बनाना चाहते हैं| इन खबरों के बीच तमिलनाडु प्रीमियर लीग में वीबी थिरुवलुर के कोच भरत अरुण ने कहा है कि उन्हें भारतीय टीम का गेंदबाजी कोच बनाने जैसा कोई कॉन्ट्रैक्ट अभी तक साइन नहीं किया गया है| खबरें थीं कि रवि शास्त्री अरुण को गेंदबाजी कोच बनाना चाहते हैं| इस खबर के बाद प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय ने भी इस बात की पुष्टि की थी कि मुख्य कोच को सपोर्ट स्टाफ चुनने का अधिकार है| इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि, उन्हें अभी ये पद नहीं मिला| अरुण ने आगे कहा कि मुझे अभी साधारण ही रहना है| अगर मुझे बीसीसीआई से यह कार्य मिलता है, तो मेरे पास TNPL और RCB दोनों होंगी|  54 वर्षीय भरत अरुण भारतीय टीम के सपोर्ट स्टाफ में शास्त्री के साथ काम करने के सम्भावितों में काफी अनुभवी भी हैं| पिछले साल वे हैदराबाद के कोच थे और हैदराबाद क्रिकेट संघ के अधिकारी उनके अनुबंध को बढ़ाने पर भी विचाराधीन थे| इसके अलावा भरत आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कोच भी हैं| शास्त्री जब भारतीय टीम के डायरेक्टर थे, तब भी अरुण गेंदबाजी कोच रह चुके हैं| 2014 से 2016 के बीच उनका पहला कार्यकाल रहा. इस बार कोच बनाए जाने पर उनका दूसरा कार्यकाल होगा| इससे पहले क्रिकेट सलाहकार समिति ने जहीर खान को गेंदबाजी कोच और राहुल द्रविड़ को बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया था लेकिन बाद में इस फैसले को बदलते हुए 150 दिनों का अनुबंध किया गया| इसके बाद यह कहा गया कि शास्त्री सपोर्ट स्टाफ में खुद की पसंद चाहते हैं| 

Advertisement

img
img