प्रो कबड्डी लीग के पांचवे संस्करण का आज होगा आगाज

पोलखोल न्यूज़, नई दिल्ली 7/28/2017 3:09:51 AM
img

वीवो प्रो कबड्डी लीग के पांचवें सीजन का आज आगाज होगा| गाचीबावली स्टेडियम में मेजबान तेलुगू टाइटंस और नई प्रवेशी तमिल थालाइवाज के बीच होने वाले मुकाबले के साथ 12 टीमों के बीच अगले सवा तीन महीनों तक चलने वाली रोमांचक प्रतिस्पर्धा का आरंभ होगा| सीजन पांच के तहत 12 आयोजन स्थलों पर कुल 138 मैच खेले जाएंगे| इस लीग में इस साल चार नई टीमों का प्रवेश हुआ है| प्रथम प्रवेशी हरियाणा स्टीलर्स (सोनीपत), गुजरात फार्च्यून जाएंट्स (अहमदाबाद), यूपी योद्धाज (लखनऊ) और तमिल थालाइवाज (चेन्नई) के अलावा मौजूदा चैम्पियन पटना पाइरेट्स (पटना), उपविजेता जयपुर पिंक पैंथर्स (जयपुर), पूर्व चैम्पियन यू मुम्बा (मुम्बई), बंगाल वारियर्स (कोलकाता), बेंगलुरू बुल्स (बेंगलुरू), पुनेरी पल्टन (पुणे) और दिल्ली दबंग (दिल्ली) और तेलुगू टाइटंस (हैदराबाद) अपना दमखम दिखाते हुए खिताब पर कब्जा करना चाहेंगी| बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार आज से शुरू हो रहे वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के पांचवें संस्करण के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रगान गाएंगे| लीग को बढ़ावा देते एक वीडियो में कहा था कि कबड्डी भारतीयों को जोड़ता है| बाहुबली के राणा दग्गुबाती और क्रिकेट दिग्गज सचिन तेंदुलकर जैसी हस्तियां समारोह का मुख्य आकर्षण होंगी| गाचीबावली इंडोर स्टेडियम में आयोजित होने वाले समारोह में महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज और बैडमिंटन खिलाड़ी बी. साई प्रणित, किदांबी श्रीकांत और आर.एम.वी गुरुसांईदत्त जैसे सितारे भी उपस्थित होंगे| इस दौरान प्रतिष्ठित बैडमिंटन कोच पी.गोपीचंद भी मौजूद होंगे| मनोरंजन-जगत से दक्षिणी लोकप्रिय सुपरस्टार अल्लू अर्जुन और चिरंजीवी भी कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे| यह संस्करण कई मायनों में खास होगा| एक तो इसमें इस बार आठ की बजाय 12 टीमें खेल रही हैं और दूसरा इस साल पुरस्कार राशि में जबरदस्त इजाफा हुआ है| विजेता को तीन करोड़ रुपये मिलेंगे और इसके अलावा दूसरे हकदारों को भी काफी लुभावने पुरस्कार मिलेंगे| इनमें खिलाड़ियों को दिए जाने वाले व्यक्तिगत पुरस्कार भी शामिल हैं| पांचवें सीजन में एक तरफ जहां नई टीमों के प्रवेश के साथ इसका रोमांच बढ़ा है वहीं दूसरी ओर, इसकी लम्बी अवधि के कारण यह खिलाड़ियों की शारीरिक और मानसिक क्षमता का अत्यधिक दोहन करेगा| लंबी अवधि इसकी लोकप्रियता में बाधा उत्पन्न करती दिख रही है लेकिन आयोजक और खिलाड़ी इसे लेकर बिल्कुल भी चिंतित नहीं हैं क्योंकि उन्हें मालूम है कि जन-जन का खेल होने के नाते कबड्डी की लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आएगी| उलटे उन्हें भरोसा है कि नए फारमेट में लोग इस खेल को और भी पसंद करेंगे और इस साल यह नई सीमाओं में प्रवेश के साथ और भी लोकप्रिय होगी| आज यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में 12 टीमों के कप्तानों और लीग कमिश्नर अनुपम गोस्वामी ने इसकी सफलता को लेकर विश्वास जाहिर किया| गोस्वामी ने कहा कि जन-जन से जुड़े होने के कारण यह लीग लोगों के दिलों में एक खास स्थान बना चुकी है और अब वे इस लीग का इंतजार करते हैं| ऐसे में उन्हें यकीन है कि नया सीजन नए अध्याय लिखेगा.हैदराबाद के बाद यह लीग नागपुर, अहमबाद, लखनऊ, मुंबई, कोलकाता, हरियाणा, रांची, दिल्ली, चेन्नई, जयपुर और पुणे का रुख करेगी| इसके बाद मुंबई और और चेन्नई में क्वालीफायर और एलिमिनेटर मुकाबले होंगे और 28 अक्टूबर को चेन्नई में फाइनल होगा| 

Advertisement

img
img