2013 में केदारनाथ से 40 लाख लेकर फ़रार कर्मचारी देहरादून से गिरफ्तार

पोलखोल न्यूज़, देहरादून 8/14/2017 4:36:14 AM
img


प्रकाश गोस्वामी जो कि प्रान्तीय खण्ड, लोक निर्माण विभाग, रूद्रप्रयाग में कनिष्ठ सहायक के पद पर तैनात था|  जिलाधिकारी के आदेश पर केदारनाथ यात्रा के दौरान उसकी ड्यूटी गौरीकुण्ड, केदारनाथ पैदल मार्ग पर घोडे/ खच्चर/ कण्डी की प्रीपेड बुकिंग काउन्टर पर प्राप्त नकदी को बैंक में जमा करने के लिए लगाई गई थी| प्रकाश की ड्यूटी 13 जून, 2013 से 15 जून, 2013 तक थी| इस दौरान प्राप्त कैश लगभग 40 लाख रुपये लेकर वह लापता हो गया| इसके बाद केदारनाथ आपदा की बड़ी घटना हुई| विभाग ने प्रकाश गोस्वामी की तलाश की गई और कई नोटिस भी जारी किए लेकिन प्रकाश गोस्वामी का कोई पता नहीं चला| इस बीच प्रकाश गोस्वामी के भाई ने जिला साहसिक खेल अधिकारी रूद्रप्रयाग के एकाउन्ट में आठ लाख रुपये जमा किए और बताया कि ये प्रकाश गोस्वामी की आलमारी से मिले हैं| भाई ने यह भी बताया कि प्रकाश 20 जून 2013 से लापता है| प्रकाश गोस्वामी लगातार चार साल तक फ़रार रहा| सोमवार को मुखबिर खास की सूचना पर अभियुक्त उपरोक्त को आईएसबीटी देहरादून के नज़दीक से गिरफ्तार किया गया| पूछताछ में उसने बताया कि घटना के बाद वह पुलिस कार्रवाई के डर से फ़रार होकर राजस्थान चला गया और अपनी पहचान छुपाकर अबू रोड, सिरौही, राजस्थान में होटल चामुण्डा में वेटर का काम कर रहा था. उसने घर और पूर्व परिचितों से भी कोई सम्पर्क नहीं रखा| प्रकाश गोस्वामी को लग रहा था कि उसे केदारनाथ आपदा में लापता मान लिया जाएगा और मेरी तलाश नहीं की जाएगी| गिरफ़्तारी के बाद उसे विधिक कार्यवाही के लिए थाना ऊखीमठ, जनपद रुद्रप्रयाग भेजा जा रहा है|

Advertisement

img
img