पूर्व मंत्री की कार से लाखों की पुरानी करेंसी बरामद

पोलखोल न्यूज़, लखनऊ 8/29/2017 1:30:06 AM
img

देश में पुरानी करेंसी (रु.1000 व 500) के बंद होने के बाद भी उनको ठिकाने लगाने की जुगत जारी है। अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रहे रविदास मेहरोत्रा की गाड़ी से 30 लाख रुपए की पुरानी करेंसी मिली है। गोमतीनगर थाना में गाड़ी के साथ पकड़ा गया व्यक्ति खुद को पूर्व मंत्री की गाड़ी का चालक बता रहा है। उसके पास से एक रिवाल्वर भी मिली है। नोटबंदी के बाद से लगातार काला धन रखने वालो की हालत खराब होती जा रही है। उनके पास इतना ज्यादा काला धन है कि नए नोट आ जाने के कारण अब वो कागज बन कर रह गए हैं। इसी कारण वे लोग अपने काले धन को ठिकाने लगाने में लगे हुए हैं।

समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता माने जाने वाले पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा की गाड़ी से आज पचास लाख रुपए के पुराने नोट मिलने के बाद आज शहर में खलबली मच गई है। केंद्र सरकार ने पुरानी नोट रखने वाले किसी भी शख्स को अपराधी की श्रेणी में रखने का फरमान जारी किया है। इसके बाद भी लोग पुरानी करेंसी को कैश कराने की जुगत में हैं। लखनऊ में गोमतीनगर क्षेत्र से एक एसयूवी से 30 लाख की पुरानी करेंसी के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह गाड़ी पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा की है। गाड़ी को गोमतीनगर थाना क्षेत्र से कब्जे में लिया गया है। पुलिस ने गाड़ी और अपराधियों को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। रात पुलिस गोमती नगर विस्तार में वाहन चेकिंग कर रही थी। पुलिस टीम ने एक एक्सयूवी कार (UP 32 EU 7777) को रुकने का इशारा किया। तो वाहन चालक पुलिस देखकर गाड़ी भागने लगा। इस पर पुलिस टीम ने घेराबंदी करके गाड़ी को रुकवाया और शक के आधार पर गाड़ी की तलाशी ली। इस दौरान गाड़ी के अंदर 30 लाख रूपये के पुरानी करेंसी के नोट बरामद हुए। पुलिस ने दोनों व्यक्तियों को हिरासत में लिया और पूछताछ की। रविदास मेहरोत्रा पिछली अखिलेश यादव सरकार के अंतिम विस्तार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए थे। वह काफी पुराने समाजवादी हैं और लखनऊ की मध्य सीट से विधायक भी रह चुके हैं। पिछला (2017) विधानसभा चुनाव भी वह कांटे के संघर्ष में भाजपा के ब्रजेश पाठक से हार गए थे। 

Advertisement

img
img