मैडम के टॉर्चर से परेशान होकर 10 साल के बच्चे ने किया सुसाइड

पोलखोल न्यूज़, लखनऊ 9/22/2017 2:16:13 AM
img

क्या स्कूलों में बच्चों के प्रति टीचर का व्यवहार कुछ ऐसा है, जिससे छोटे बच्चों की मानसिकता पर भी प्रभाव पड़ रहा है? क्या टीचरों द्वारा बच्चों को सिर्फ प्रताड़ित ही किया जा रहा है| अभी कुछ समय पहले भी ऐसे मामले सामने आये थे| अब फिर ऐसा मामला सामने आया है, जिसमे बच्चे ने टीचर के टॉर्चर से सुसाइड कर लिया है| अब जब 10 साल के बच्चे की टीचर के प्रति ऐसी मानसिकता है तो इसका क्या मतलब निकाला जाए| यह मामला है गोरखपुर के सेंट अंथोनी स्कूल का जहां 5वीं के छात्र नवनीत प्रकाश ने जहर खाकर सुसाइड कर लिया| छात्र के बैग से पुलिस को सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें उसने अपनी मौत के लिए क्लास टीचर भावना राय को जिम्मेदार ठहराया है| पिता रवि प्रकाश की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है|  नवनीत ने 15 सितम्बर को जहर खा लिया था| इलाज के दौरान नवनीत ने 20 सितम्बर को दम तोड़ दिया| उसके बैग से एक सुसाइड नोट भी मिला था जिसमें उसने अपनी क्लास टीचर और एक अन्य टीचर पर टार्चर करने का आरोप लगाया है| पुलिस ने भी सुसाइड नोट की हैंड राइटिंग उसके कॉपी से मिलान करवाई है| पुलिस के मुताबिक हैंड राइटिंग मैच कर रही है| नवनीत के द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट-

पापा,

आज  (15.09.2017) मेरा पहला एग्जाम था| मेरी मैम (क्लास टीचर) ने मुझे 9:15 तक रुलाया, खड़ा रखा| इसलिए क्योंकि वो चापलूसों की बात मानती हैं| उनकी किसी बात का विश्वास मत करिएगा| कल उन्होंने मुझे तीन पीरियड खड़ा रखा रहा| आज मैंने सोच लिया है कि मैं मरने वाला हूं| मेरी आखिरी इच्छा है कि मेरी मैम किसी बच्चे को इतनी बड़ी सजा देने को न कहें| 

अलविदा


पापा, मम्मी और दीदी” 


इस बीच पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करते हुए पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार लार लिया| गिरफ्तारी के बाद टीचर को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया| इस बीच स्कूल प्रशासन ने आरोपी टीचर को निलंबित कर दिया है| आरोपी टीचर भावना सात महीने की गर्भवती हैं और उनका कहना है कि उन्होंने किसी बच्चे को प्रताड़ित नहीं किया| पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि बच्चे को जहर कहां से और कैसे मिला| 

Advertisement

img
img