बीएसपी में कार्यकर्ताओं को समुचित सम्मान नहीं मिलता: नारद राय

पोलखोल न्यूज़, लखनऊ 10/3/2017 12:50:52 AM
img

अखिलेश सरकार के पूर्व मंत्री नारद राय ने बहुजन समाज पार्टी से नाता तोड़ लिया है| विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सपा छोड़ बसपा में आये नारद राय ने अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में इसकी घोषणा की| नारद राय ने बसपा नेताओं की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए पार्टी कोआर्डिनेटरों की भूमिका को आड़े हाथों लिया| राय ने कहा कि ये लोग निजी कम्पनी के कलेक्शन एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं और बहनजी के नाम पर पैसों की वसूली कर रहे हैं| पूर्व मंत्री ने फिलहाल किसी अन्य पार्टी में जाने की बात नहीं कही| हालांकि यह जरूर कहा कि वे भाजपा में शामिल नहीं होंगे| बता दें, कि छोटे लोहिया जनेश्वर मिश्र व मुलायम सिंह यादव को अपना आदर्श बताते हुए नारद राय ने कहा कि इन दो महान नेताओं के सानिध्य में रहकर संघर्ष किया और उसी के बूते राजनीति में मुकाम हासिल किया| दूसरी ओर बसपा में अपनी बात रखने या संघर्ष करने की स्पष्ट मनाही थी| ऐसे में हमारे जैसा नेता वहां घुटन महसूस कर रहा था| कहा कि विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कुछ कारणों से सपा छोड़कर बसपा में आया था| राय ने कहा कि बीएसपी में कार्यकर्ताओं को समुचित सम्मान नहीं मिला| 

Advertisement

img
img