राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल वसूलने की नई प्रणाली ला रही सरकार

पोलखोल न्यूज़, नई दिल्ली 11/8/2017 11:14:28 PM
img

राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल वसूलने की प्रणाली को सामान्य बनाने और लंबे इंतजार से वाहनों का समय बचाने के लिए सरकार इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन प्रणाली लेकर आएगी जो दिसंबर में शुरू हो जाएगा|  केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मीडिया से बात करते हुए बताया, एक दिसंबर के बाद सड़कों पर आने वाले सभी वाहनों में फास्टैग लगा होगा ताकि राष्ट्रीय राजमार्ग पर पूरे देश में कैशलेश टोल कलेक्शन को आसान बनाया जा सके|  कुल साढ़े सात लाख वाहनों में पहले से फास्टैग लगा हुआ है|  अगले साल मार्च 2018 तक इसकी संख्या बढ़ कर 25 लाख हो जाएगी| गडकरी ने कहा,  आगामी दो महीने में राष्ट्रीय राजमार्गों पर फास्टैग रेडी कुल 3500 लेन बनाए जायेंगे|  मंत्री ने बताया कि मौजूदा समय में फास्टैग से दस करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित हो रहा है| देशभर के करीब 391 टोल प्लाजा पर लगने वाले लंबे जाम से लोगों को राहत देने के लिए सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने 3 मई को एक अधिसूचना जारी की थी. इस अधिसूचना के मुताबिक, 1 जुलाई से सभी व्यावसायिक वाहनों के शीशे पर (ड्राइवर के बाईं ओर) फास्टैग लगाना अनिवार्य किया गया था|  उस समय कहा गया था कि ये व्यवस्था सफल होने पर इसे व्यावसायिक वाहनों के बाद अन्य वाहनों पर भी लागू कर दी जाएगी| अब फास्टैग की व्यवस्था अन्य वाहनों के लिए उपलब्ध करवाई जा रही है| फास्टैग लगे वाहनों के लिए टोल प्लाजा पर अलग से लेन होगी|  प्लाजा पर लगे सेंसर फास्टैग को कुछ मीटर की दूरी से ही पढ़ लेगा और खुद-ब-खुद टैक्स अदा हो जाएगा| कुछ देर में यात्री को उसके बैंक एकाउंट से निकलने वाले पैसे की जानकारी एसएमएस के जरिये मोबाइल पर मिल जाएगी|  भविष्य में इस टैग के जरिये पेट्रोल भरवाने और राज्य सीमा के चेकपोस्ट पर भुगतान करने जैसे काम भी किए जा सकेंगे| 

Advertisement

img
img