कासगंज हिंसा : बरेली के डीएम का विवादित बयान, कहा- क्यों लगे मुस्लिम मोहले में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

पोलखोल न्यूज़, बरेली 1/30/2018 2:54:02 AM
img

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर यूपी के कासगंज में हुए साम्प्रदायिक दंगे के बाद अब भी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है| आज बरेली के जिलाधिकारी राघवेन्द्र विक्रम सिंह ने एक विवादित बयान दिया है| उन्होंने लिखा है की, अजब रिवाज बन गया है | मुस्लिम मौहल्लों में ज़बरदस्ती जलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ | क्यों भाई वे पकिस्तानी हैं क्या ? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था | फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए, बता दें कि कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान दो समुदायों में विवाद हुआ, उसके बाद साम्प्रदायिक हिंसा हुई। धीरे-धीरे पूरा कासगंज सुलग उठा। हालांकि, अब वहां हालात नियंत्रण में है।

डीएम ने लिखा सोशल मीडिया में बयान

जिस फेसबुक अकाउंट से यह लिखा गया है, उसके प्रोफाइल में आर विक्रम सिंह के परिचय के रूप में लिखा गया है कि उन्होंने सेना में भी नौकरी की है। सेना की शॉर्ट सर्विस कमीशन के दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर, रांची और हैदराबाद में अपनी सेवाएं दी हैं। इसके बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश कैडर में सिविल सर्विस में योगदान दिया। आर विक्रम सिंह बहराइच के रहने वाले हैं और गोरखपुर यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में एमए हैं। पोस्ट के वायरल होने के बाद उन्होंने राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कहा, प्रशासन की अनुमति के बगैर जुलूस और प्रदर्शन नहीं करने चाहिए|  कुछ लोग जबरन अल्पसंख्यक बाहुल्य मोहल्लों में जुलूस निकालकर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं| किसी के घर के बाहर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाने की क्या जरूरत है मैंने फेसबुक पोस्ट के जरिए हिन्दू-मुस्लिम को मेल जोल के साथ रहने के लिए जागरूक करने की कोशिश की है |

Advertisement

img
img