यूपी ; विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला

पोलखोल न्यूज़, लखनऊ 3/7/2018 6:13:14 AM
img

विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। कहा कि यह सरकार आतंकवादी जैसा आचरण कर रही है। लोगों में दहशत पैदा कर रही है। आतंक पैदा कर लाखों छात्रों की परीक्षा छोड़वा दी। दलितों, पिछड़ों और मुसलमानों के अरमानों के साथ खिलवाड़ किया है। बेगुनाहों को फर्जी मुठभेड़ में मार रही है। राम गोविंद चौधरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री तो सबके होते हैं लेकिन, ये अधूरे मुख्यमंत्री हैं। इनके लिए जितनी महत्वपूर्ण होली, दीपावली है उतनी ही महत्वपूर्ण ईद होनी चाहिए।चौधरी ने सरकार के काम काज पर सवाल उठाया और कहा कि छल, और प्रपंच के बल पर ये लोग हमेशा असत्य बोल रहे हैं। उन्होंने हिमाचल में योगी के भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि वहां ये झूठ बोल आये कि छह लाख युवाओं को नौकरी दे दी है, जबकि अभी तक एक भी वांट नहीं निकला। नेता प्रतिपक्ष ने महापुरुषों के नाम पर छुट्टियां निरस्त किये जाने का मामला उठाया और फिर कानून-व्यवस्था पर भी सरकार को आड़े हाथों लिया। चौधरी ने लखनऊ समेत प्रदेश भर की आपराधिक घटनाएं भी गिनाई।  चौधरी ने कहा कि हमारा बसपा से समझौता हुआ। यह सिर्फ दो दलों का समझौता है लेकिन, दर्द 40-45 दलों से समझौता करने वालों को हो रहा है। योगी ने गत दिवस रहीम का दोहा कह रहीम कैसे निभे केर-बेर को संग-सुनाकर सपा-बसपा समझौते पर टिप्पणी की थी। चौधरी ने भी रहीम का दोहा पढ़ा- टूटे सूजन मनाइए जो टूटे सौ बार...। उन्होंने कासगंज में तिरंगा यात्रा निकाले जाने पर भाजपा पर खूब तंज किये। सवाल उठाया कि आजादी की लड़ाई में क्या हिंदुओं के साथ मुसलमान जेल नहीं गए। क्या उन्हें फांसी नहीं हुई। फिर भाजपा की नीतियों पर हमला करते हुए देश बांटने वाली पार्टी बताया। कहा, देश कभी बंटेगा तो भाजपा की गलत नीतियों से बंटेगा। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने इस मामले पर हस्तक्षेप किया। शाही का कहना था कि देश की एकता-अखंडता जैसे गंभीर विषय पर नेता प्रतिपक्ष का बयान अशोभनीय है। चौधरी ने यह भी सवाल उठाया कि कासगंज की घटना में जांच क्यों नहीं कराई। दाल में कुछ काला जरूर है उन्होंने किसान ऋण मोचन को किसानों के साथ छलावा बताते हुए कहा कि कर्ज माफी फेल हो गई। गलत नीतियों के कारण गिट्टी, सीमेंट और बालू का दाम बढ़ गया है। चौधरी ने कानून-व्यवस्था पर भी खूब सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि यह किसान हक मांगने वालों पर लाठी बरसा रही है।  नेता प्रतिपक्ष में वाराणसी की एक सभा में योगी सरकार के एक मंत्री द्वारा सरकार पर भ्रष्टाचार और फर्जी एनकाउंटर के आरोप की याद दिलाई। कहा कि अगर मंत्री इतना गंभीर आरोप लगा रहे हैं तो फिर हमें कुछ कहने की जरूरत ही नहीं है। चौधरी ने सवाल उठाया कि अगर मंत्री असत्य बोल हैं तो फिर मंत्रिमंडल में कैसे बने हुए हैं। चौधरी ने नेता सदन के भाषण के बाद भी कहा कि हमने जो सवाल उठाये उसका जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मंत्री के कहने से यह सिद्ध हो गया कि यह सरकार सबसे भ्रष्टतम सरकार है। यह सरकार हर स्तर पर फेल हो गई है।  

Advertisement

img
img