यूपी : सीएम को डॉ. आम्बेडकर जयंती पर दलित मित्र सम्मान प्रदान किया

पोलखोल न्यूज़, लखनऊ 4/14/2018 1:44:49 AM
img

संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आम्बेडकर की 127वीं जयंती पर आज लखनऊ में आम्बेडकर महासभा ने कार्यक्रम आयोजित किया था। इसमें राज्यपाल राम राईक भी मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। लखनऊ में विधानसभा मार्ग पर आम्बेडकर महासभा के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दलित मित्र से सम्मानित किया गया। आज आंबेडकर महासभा हजरतगंज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डा. भीमराव रामजी आंबेडकर की जयंती पर पुष्पांजलि कर श्रद्धासुमन अर्पित की। इस मौके पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, राज्यपाल रामनाईक सहित आदि लोग मौजूद थे। इस कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार हर क्षेत्र में कुछ अलग कर रही है। अब सरकार ने कक्षा नौ व दस के छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति में इजाफा किया है। अब इन सभी को 2250 के स्थान पर तीन हजार रुपए की छात्रवृति प्रदान की जाएगी। सरकार ने निर्णय लिया है कि छात्रों को जो छात्रवृति काफी देर में प्राप्त होती थी उसकी अब पहली किस्त अक्टूबर तक और दूसरी किस्त जनवरी तक उपलब्ध होगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में अब अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत दर्ज मामलों की त्वरित सुनवाई के लिए 25 न्यायालय स्थापित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जानते हैं डॉ. भीमराव आम्बेडकर ने किन परिस्तिथियों में जीवन शुरू किया था। अपने बल पर उन्होंने उच्च से उच्चतम शिक्षा हासिल की। अपना जीवन गरीबों को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने आज एक भव्य स्मारक का लोकार्पण किया है। पीएम मोदी ने बाबा साहब से जुड़े पांच स्थानों को पंच तीर्थ के रूप में मोदी विकसित किया। पीएम मोदी ने ही बाबा साहब को आजादी के बाद सही मायने में सम्मान दिलाने का काम किया है। केंद्र सरकार ने 35 करोड़ गरीब दलित वंचितों के बैंक अकाउंट खुलवाए। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार ने आठ लाख से ज्यादा गरीब वंचित दलितों को आवास दिया। प्रदेश सरकार ने मुसहरों को आवास और जमीनों के पट्टे देने का फैसला किया। 37 लाख गरीब, दलित, वंचितों को राशन कार्ड दिलाया गया है। आंबेडकर जयंती के अवसर पर दलित महासभा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दलित मित्र सम्मान से नवाजा। जिसका आंबेडकर महासभा के बाहर से आंबेडकर महासभा के हरिश्चंद्र, एस आर दारापुरी, एन एस चौरसिया और गजोधर प्रसाद ने विरोध किया। इसके बाद पुलिस ने इन सभी को हिरासत में लिया। यह लोग भी अंबेडकर महासभा मेम्बर हैं और सीएम योगी को दलित मित्र अवार्ड देने का विरोध कर रहे थे। 

Advertisement

img
img