खुलासा: संपत्ति हड़पने के लिए मां ने प्रेमी संग बेटी का किया अपरहण

पोलखोल न्यूज़ 7/24/2016 11:12:00 PM
img

बुलंदशहर में रविवार को दिनदहाड़े सिटी की पॉश कालोनी लक्ष्मीनगर से एक किशोरी का बंदूकों की नोंक पर अपहरण कर लिया गया| वारदात को सिटी के कुख्यात बदमाश मुल्ला फारूख के भाई आबिद ने अपने साथियों संग अंजाम दिया है| लेकिन इस बीच पुलिस का असंवेदनशील चेहरा भी सामने आया है| पुलिस आरोपियों के साथ मिलकर एक जनप्रतिनिधि की मध्यस्ता में पीड़ित परिवार पर मुंह बंद रखने का दबाब बना रही है और रविवार देर रात तक केस दर्ज नही किया गया था| अपह्रत किशोरी की बुआ गौशिया ने बताया कि रविवार की दोपहर करीब साढ़े 12 बजे एक महिला के साथ आबिद और उसके दो अन्य साथी अपनी कार से उसके घर आये और जबरन घर में एंट्री की बदमाशों ने पहले गौशिया को गनप्वाइंट पर लिया और फिर घर का पिछला दरवाजा बंद करके किशोरी नसरा के कमरे में बदमाश घुस गये जहां वह टीवी देख रही थी| दो बदमाशों ने नसरा के हाथ-पांव पकड़ लिये और उसे जबरन बाहर ले जाने लगे| इस पर गौशिया और उसकी भाभी ने जब बदमाशों के कृत्य का विरोध किया तो उन्होंने धमकी दी कि अगर विरोध किया तो सब के सब मारे जाओगे| बदमाशों ने नसरा को गाड़ी में डाल लिया और ले जाने लगे. नकाबपोश महिला भी इसमें बदमाशों की मदद कर रही थी| गौशिया ने बाहर आकर शोर भी मचाया लेकिन जब तक पड़ोसी जुट पाते बदमाश गाड़ी लेकर भाग गये| मुख्यारोपी आबिद सिटी के चर्चित बदमाश मुल्ला फारूख का सगा भाई है| भागते हुए अपहरणकर्ता सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुए हैं| वारदात के पृष्ठभूमि में सामने आया है कि नसरा की मां शहाना करीब सात साल पहले आबिद के साथ घर से भाग गयी थी और तब से उसी के साथ रह रही है| आबिद से उसे बच्चे भी है| नसरा के अपहरण के पीछे शहाना और आबिद का स्वार्थ है| शहाना नसरा को अपने कब्जे में करके उसके नाम 11 लाख रूपये की बैंक डिपोजिट हड़पना चाहती है| आरोप है कि शहाना और आबिद नसरा के दादालाई मकान में आधा हिस्सा भी चाहते हैं| शहाना के घर से भाग जाने के बाद तनाव में आये नसरा के पिता ने जनवरी-2016 में आत्महत्या कर ली थी| शहाना उन्हें आबिद और उसके भाई की मदद से सम्पत्ति पर कब्जा करने की धमकिया देती थी और इससे पहले भी एक बार नसरा को किडनैप करन की कोशिश की गयी थी| पूरे मामले में कोतवाली सिटी पुलिस की भूमिका संदिग्ध नजर आयी है| पीड़ित परिवार की शिकायत के बाबजूद पुलिस ने केस दर्ज नही किया| उलटे, मुल्ला फारूख के खास एक जनप्रतिनिधि के घर पीड़ित परिवार को बुलवाकर उन्हें मुंह बंद रखने की हिदायत दी गयी| स्थानीय पुलिस इस मामले में मुल्ला फारूख और उसके भाई के पक्ष में खड़ी दिखाई दे रही है| मीडिया के दखल के बाद एसपी सिटी राममोहन सिंह ने इस मामले को गंभीर बताते हुए कोतवाली सिटी पुलिस को केस दर्ज करके के आदेश दिये हैं| उन्होंने बताया कि पुलिस की भूमिका की जांची की जायेगी और आरोपियों को किसी भी हालत में बख्शा नही जायेगा. नसरा की जल्द ही बरामदगी होगी|

Advertisement

img
img