दोस्त की मदद के लिए क्लास की छात्रा ने रच डाली अपने अपहरण की झूठी कहानी

पोलखोल न्यूज़ 8/17/2016 9:21:59 PM
img

छत्तीसगढ़ की दुर्ग पुलिस ने एक ऐसे फर्जी अपहरण के मामले का खुलासा किया है, जिसे 9वीं क्लास में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अंजाम दिया था| दोस्त की मदद के लिए नाबालिग छात्रा ने अपने ही मोबाइल से पिता को फोन करवाकर 15 लाख रुपए की फिरौती की मांग की थी| सुपेला के शांति नगर में रहने वाले कतवारू प्रसाद निगम ने भिलाई नगर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनकी बेटी मंगलवार शाम को सेक्टर-2 में ट्यूशन क्लास के लिए गई थी| नाबालिग छात्रा रोज रात 8.30 बजे तक घर वापस आ जाती थी, लेकिन मंगलवार को जब देर रात तक वह घर नहीं लौटी तो घरवालों ने आस-पास उसकी खोजबीन की| लेकिन कुछ पता नहीं चला. इसी दौरान छात्रा के पिता को छात्रा के मोबाइल फोन से एक अज्ञात युवक ने फोन किया. धमकी भरे अंदाज में बात करते हुए युवक ने कहा कि तुम्हारी बेटी हमारे कब्जे में है और उसे छुड़ाना चाहते हो तो 15 लाख रुपए 24 घंटे के अंदर दे दो. इसके बाद लड़की के पिता ने इस मामले की शिकायत पुलिस से कर दी| पुलिस ने इस मामले में अपहरण का मामला दर्ज करते हुए| आला अधिकारियों को इसकी जानकारी दी. आईजी दीपांशु काबरा ने इसे बेहद संवेदनशील मामला मानते हुए इस घटना की जांच के लिए पुलिस की आधा दर्जन टीमों का गठन करने के निर्देश दिए. सभी टीमों ने तत्काल कार्रवाई प्रारम्भ करते हुए लड़की के दोस्तों और रिश्तेदारों से अपहृत छात्रा की जानकारी प्राप्त की, जिस पर पुलिस को एक युवक दीपक पांडे और अपहृत छात्रा के बीच दोस्ती होने की जानकारी मिली| पुलिस ने दीपक के मोबाइल फोन की लोकेशन ट्रेस की और उसे पकड़कर पूछताछ की गई तो उसकी बताई जानकारी के आधार पर अपहृत छात्रा को कृष्णा नगर स्थित मनीष सिंह और एक अन्य आरोपी के कमरे से बरामद कर लिया| पुलिस की पूछताछ में आरोपी दीपक पांडे ने बताया कि वह कर्ज के तले दबा हुआ था और उसे पैसे की बहुत जरूरत थी. चूंकि आरोपी दीपक पांडे की अपहृत छात्रा के साथ अच्छी दोस्ती थी इसलिए उसकी मदद करने के लिए छात्रा ने दीपक पांडे और मनीष के साथ मिलकर फर्जी अपहण की झूठी कहानी रच डाली. दोनों युवकों ने छात्रा को ट्यूशन से कृष्णा नगर ले जाकर एक कमरे में रुखा| वहीं से कहानी गढ़ कर छात्रा के पिता को फोन किया गया. लेकिन महज 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने मामले को सुलझा लिया है| फिलहाल पुलिस मुख्य आरोपी दीपक पांडे को गिरफ्तार कर लिया है और फरार आरोपी मनीष सिंह की तलाश कर रही है|

Advertisement

img
img